Friday, August 10, 2007

बेदाग चांद


पूर्णिमा की दहकती रात मे
कभी देखा है प्रिये
तुमने, वो बेदाग़ चांद.............

हो जैसे दुल्हन की कलाई मेँ
हीरों जाड़ा कंगन,

या फिर- बिरहन के माथे पर
कुमकुम की बिखरी बिंदिया,

या फिर मोम की गुड़ियों मे
पिघलता सोना,

या फिर रुपहली मौजों पर
थिरकते नव-नर्तकी के पांव,

या फिर महताब सा आईने मे उभरा
तुम्हारा अक्स,

कभी देखा है प्रिय
तुमने वो बेदाग चांद................

5 comments:

उन्मुक्त said...

पूर्णिमा के चांद में तो,
हमेशा होते हैं दाग
यह मैंने हर पुर्णिमा को देखा है
विश्वास न हो तो,
स्वयं देख लेना
अगली पूर्णिमा पर।
यहां तो किसी और पूर्णिमा की बात है

Foundation SHURWAAT said...

Poornima ki dahakti raat,
Wah! sheetalta aur dahkan ka kaisa hai sangam..
jaise lambe virah ke baad priytam se milne ka mann...
aise me milna priytam se...
Dikha dega kisi ko bhee wo bedaag chaand...

Sanjeet Tripathi said...

गज़ब!!
क्या बात है मिस चयनिका!!

Tiger said...

God Work.. Keep Posting..

And one thing more.. I could not get a place to comment on the Quote written on the Header of your Blog.. Thats also Nice :)..

Regards..

Aman..

國倫老師Teacher said...

cool!i love it!AV,無碼,a片免費看,自拍貼圖,伊莉,微風論壇,成人聊天室,成人電影,成人文學,成人貼圖區,成人網站,一葉情貼圖片區,色情漫畫,言情小說,情色論壇,臺灣情色網,色情影片,色情,成人影城,080視訊聊天室,a片,A漫,h漫,麗的色遊戲,同志色教館,AV女優,SEX,咆哮小老鼠,85cc免費影片,正妹牆,ut聊天室,豆豆聊天室,聊天室,情色小說,aio,成人,微風成人,做愛,成人貼圖,18成人,嘟嘟成人網,aio交友愛情館,情色文學,色情小說,色情網站,情色,A片下載,嘟嘟情人色網,成人影片,成人圖片,成人文章,成人小說,成人漫畫,視訊聊天室,性愛,a片,AV女優,聊天室,情色